जिनोम प्रोजेक्ट क्या है इससे होने वाले लाभ और हानि क्या क्या है | 2021

जिनोम प्रोजेक्ट पर अच्छा देश चीन, अमेरिका, जापान, फ्रांस, जर्मनी और ब्रिटेन के वैज्ञानिकों ने काफी अनुसंधान करने के बाद 2003 मैं यह घोषणा किया कि मानव जीनोम प्रोजेक्ट का काम पूरा कर लिया गया | इस काम को पूरा करने में लगभग 15 वर्ष लगे हैं |

जिनोम प्रोजेक्ट क्या है इससे होने वाले लाभ और हानि क्या क्या है |
जिनोम प्रोजेक्ट क्या है इससे होने वाले लाभ और हानि क्या क्या है |

 प्रत्येक मानव का शरीर में लगभग 1000000 कोशिकाएं होती है |  और प्रत्येक कोशिका के नाभिक में 23 जोड़ा क्रोमोसोम होता है | क्रोमोसोम में मुख्य रूप से सबसे प्रमुख अनु DNA होता है | DNA पेंटोस शुगर फास्फेट, 4 नाइट्रोजेनस बेस (Adenine, Thymine, Cytosine, Guanin ) से बना होता है, इन चारों Nitrogenous Base विभिन्न क्रम ही विभिन्न प्रकार के जीन का निर्माण करते हैं | मनुष्य के एक Cell में लगभग  50000 से एक लाख तक जिन पाया जाता है | इन सभी जिलों का फोटो कॉपी प्राप्त करना है जिनोम प्रोजेक्ट का मुख्य उद्देश्य था, जिसको प्राप्त कर लिया गया है|

 अब इन 50000 से 100000 तक के जीनों को अलग अलग पहचान किया जा रहा है, कुछ जीनों को पहचान कर लिया गया है | 

जबकि कुछ को पहचानना अभी बाकी है | अगला काम जीन डिटेक्शन के बाद इस बात को भी पता लगाना होगा कि कौन सा जीन कौन Protein प्रोटीन के निर्माण कर रहा है, कौन सा जीन बुढापा के लिए उत्तरदाई है इत्यादि का पता लगाने का अनुसंधान करना अभी बाकी है |

इससे होने वाले लाभ: 

(i)  जिनका सही जानकारी हो जाने से जेनेटिक डिसऑर्डर का आसानी से पता लग जाएगा तथा उसका इलाज जीन थेरेपी से आसानी से किया जा सकेगा | जैसे-  हीमोफीलिया,कलर ब्लाइंडनेस |

(ii)  जिन से संबंधित बीमारियों के लिए समुचित दवाओं का निर्माण किया जाएगा |

(iii)  जन्म से पूर्व में बच्चों के जेनेटिक डिसऑर्डर को खत्म किया जा सकेगा |

(iv) अंग प्रत्यारोपण में भी काफी सुविधा होगी |

(v)  बुढ़ापा और मृत्यु पर विजय प्राप्त किया जाएगा |

(vi) Race प्रजाति का पुराने पन का पता चल जाएगा |

 इससे होने वाली हानि 

(i)  अनियंत्रित जनसंख्या का विकास हो जाएगा |

(ii)  भूर्ण हत्या बढ़ जाएगा |

(iii)  विभिन्न पीढ़ियों से संघर्ष बैठेगा |

(iv)  अधिक जनसंख्या से संबंधित सारी समस्याओं में वृद्धि होगी | 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.