Live Update News, India and China Big Breaking News 2021

 भारत (India) और चीन (China) के बीच शनिवार को सैन्य वार्ता का एक और दौर जारी है।

 यह वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के करीब चीन के अंतर्गत आने वाले मोल्दो (Moldo) में आयोजित की गई । इस वार्ता के लिए भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व लेफ्टिनेंट जनरल पीजीके मेनन कर रहे हैं। वे लेह स्थित 14वीं कोर के कमांडर हैं। दूसरी ओर चीनी पक्ष का नेतृत्व मेजर जनरल लिउ लिन कर रहे हैं।

वे चीनी सेना के दक्षिणी शिनजियांग सैन्य जिले के कमांडर हैं। आज होने वाली बातचीत में गोगरा, हॉट स्प्रिंग्स व डेपसांग प्लेन समेत कई प्वाइंट को लेकर चर्चा हुई। पैगोंग झील के उत्‍तर व दक्षिणा तट पर जारी तनाव का समाधान होने के बाद भारत और चीन के बीच आज यह वार्ता हुई। 

यह जानकारी भारतीय आर्मी की ओर से दी गई। सूत्रों के अनुसार, दोनों पक्षों के बीच अन्‍य टकराव वाले बिंदुओं पर चर्चा की गई। विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता अनुराग श्रीवास्‍तव (Anurag Srivastava) ने कहा, ‘कई राउंड की वार्ता के बाद यह कूटनीत‍ि व सैन्‍य स्‍तर पर  समझौता हुआ है।’ उन्‍होंने यह भी बताया क‍ि दोनों देशों के बीच जारी तनाव को खत्‍म करने के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने संसद में चर्चा की थी। 

बता दें कि पैंगोंग झील के उत्तरी-दक्षिणी किनारों से सैनिकों की वापसी, अस्त्र-शस्त्रों और अन्य सैन्य साजो-सामान और बंकरों, तंबुओं और अस्थायी निर्माणों को हटाने का काम गुरुवार को पूरा हो गया। इस बीच, चीन ने पहली बार आधिकारिक तौर पर यह कहा कि पिछले साल जून में गलवन घाटी में भारतीय सैनिकों के साथ हुई झड़प में उसके चार सैनिक मारे गए थे। गलवन घाटी में हुई हिंसक झड़प में भारत के 20 सैनिक शहीद हो गए थे। इस क्रम में दोनों पक्षों के बीच कई राउंड कमांडर स्तर की वार्ता हो चुकी है। 

पूर्वी लद्दाख में टकराव के बिंदुओं से सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया के बीच आज की वार्ता से उम्‍मीद बंधी है। उल्‍लेखनीय है क‍ि इससे पहले बीजिंग ने गलवन घाटी में हुए संघर्ष का एक वीडियो जारी कर माहौल बिगाड़ने की कोशिश की है। हालांकि भारतीय सेना ने संयम का परिचय देते हुए उस पर कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.