Love Poem: समेट कर ले जाओ अपने झूठे वादों के, अगली मोहब्बत में

Leave a Reply

Your email address will not be published.